Table of Contents

Enquire Form
Explore By Category
Recent Posts

फाइनेंस में MBA और PGDM के बाद टॉप 10 करियर विकल्प

फाइनेंस में MBA और PGDM के बाद टॉप 10 करियर विकल्प

आपने फाइनेंस में MBA और PGDM किया है और अब आप एक बेहतर करियर ऑप्शन की तलाश में है तो आज के इस लेख में हम 10 ऐसे करियर विकल्प पर चर्चा करेंगे जिसे आप फाइनेंस में MBA और PGDM करने के बाद कर सकते हैं।

सबसे पहले हम जानते है फाइनेंस में MBA और PGDM है क्या?

फाइनेंस में MBA और PGDM एक दो साल की मास्टर और डिप्लोमा डिग्री है। जो आपको पोस्ट ग्रेजुएट की डीग्री देता है। जिसमें मैनेजमेंट, स्ट्रेटेजी और एडमिनिस्ट्रेशन के साथ साथ फाइनेंस की लॉज़ और इन्वेस्टमेंट जैसी टर्म्स का भी ख़ास किरदार है। इस डिग्री के तहत मिलने वाली प्रोफाइल्स में कैंडिडेट मैनेजर लेवल की नौकरी के लिए सक्षम माना जाता है। यह मैनेजीरियल रोल टॉप बैंक्स, इंश्योरेंस कंपनीज़, ऑडिट फर्मस और फिनटेक कंपनीज़ जैसी फील्ड में मिलने की संभावनायें आप इस डिग्री के साथ पाते हैं। 

अगर बात करें इस कोर्स के सिलेबस की तो इसमें कोर और इलेक्टिव सब्जेक्ट्स मौजूद हैं जो मैनेजमेंट स्टडीज़, इनवेस्टमेंट एंड फाइनेंस के बारे में आपको नॉलेज देते हैं। इसके अलावा मुख्य सब्जेक्ट्स की श्रेणी में इंटरनेशनल फाइनेंस, स्ट्रक्चर्ड फाइनेंस, इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस और कॉर्पोरेट फाइनेंस आदि शामिल हैं। 

अब हम फाइनेंस में MBA और PGDM पूरा करने के बाद उपलब्ध कुछ सबसे अधिक मांग वाले करियर विकल्पों पर चर्चा करेंगे। फाइनेंस में मैनेजमेंट की डिग्री पूरी करने के बाद छात्रों के लिए करियर के कई विकल्प मिल जाते हैं, जैसे:

1. फाइनेंस एण्ड अकाउंटिंग

फाइनेंसियल अकाउंटिंग ऐसे पेशेवर होते हैं जो वित्तीय विवरण तैयार करने, वित्तीय लेनदेन का विश्लेषण करने और यह सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार हैं कि कंपनियां प्रासंगिक वित्तीय नियमों का अनुपालन करती हैं। इसके अतिरिक्त, उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए वित्तीय रिपोर्टिंग की जिम्मेदारी भी संभालनी होगी कि वित्तीय विवरण सटीक, समय पर और प्रासंगिक लेखांकन मानकों के अनुपालन में हों। वे कंपनियों और व्यक्तियों को वित्तीय सलाह भी प्रदान करते हैं और उन्हें अपने वित्त का प्रबंधन करने में मदद करते हैं।

2. फाइनेंस एनालिटिक्स

फाइनेंस एनालिस्ट वित्तीय डेटा का विश्लेषण करके कंपनियों को निवेश निर्णय लेने में मदद करते हैं। वे कंपनी के प्रबंधन को वित्तीय अंतर्दृष्टि प्रदान करते हैं, जिससे उन्हें सूचित निर्णय लेने में मदद मिलती है। फाइनेंस एनालिटिक्स की नौकरियां वित्तीय सेवाओं, बैंकिंग, बीमा, FMCG, उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं, खुदरा, निवेश फर्मों और अन्य सहित विभिन्न उद्योगों में उपलब्ध हैं।

3. कॉर्पोरेट फाइनेंस

कॉर्पोरेट फाइनेंस लगभग हर व्यवसाय की रीढ़ है। यह पेशेवर बजट बनाकर, वित्तीय विवरणों का विश्लेषण करके, निवेश निर्णय लेने, शीर्ष प्रबंधन को वित्तीय सलाह प्रदान करके और बहुत कुछ करके कंपनियों को अपने वित्त का प्रबंधन करने में मदद करते हैं। कॉर्पोरेट वित्त पेशेवर कंपनी के नकदी प्रवाह का प्रबंधन भी करते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि कंपनी वित्तीय रूप से स्थिर है। कॉर्पोरेट वित्त नौकरियाँ सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों में उपलब्ध हैं।

4. इन्वेस्टमेंट बैंकिंग

फाइनेंस पेशेवरों के लिए इन्वेस्टमेंट बैंकिंग अत्यधिक फायदेमंद करियर पथ है। इन्वेस्टमेंट बैंकर कंपनियों को अंडरराइटिंग और सिक्योरिटी को बेचकर पूंजी जुटाने में मदद करते हैं। ये विलय एवं अधिग्रहण और अन्य वित्तीय लेनदेन के संबंध में कंपनियों को रणनीतिक वित्तीय सलाह भी प्रदान करते हैं। इन्वेस्टमेंट बैंकिंग नौकरियां अत्यधिक चुनौती भरा होने के साथ साथ उच्च वेतन और बोनस भी प्रदान करती हैं।

5. ग्लोबल टैक्सेशन

ग्लोबल टैक्सेशन वित्तीय सेवा उद्योग में सबसे अधिक मांग वाली और आगामी प्रोफाइलों में से एक है। वैश्विक कर सलाहकार अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय रिपोर्टिंग मानकों, लेखांकन और कार्यात्मक विश्लेषण, वैश्विक व्यवसायों के लिए कर संरचना, विदेशी कर क्रेडिट नियमों और बहुत कुछ के क्षेत्र में प्रभावी ढंग से समझने और संचालित करने के लिए उन्नत विशेषज्ञता प्राप्त करते हैं। दुनिया भर की टॉप कंपनियाँ इस प्रोफ़ाइल में कौशल और ज्ञान रखने वाले प्रबंधन ग्रेजुएट्स को नियुक्त करना चाहती हैं।

6. कमर्शियल क्रेडिट एंड रिस्क मैनेजमेंट

कमर्शियल क्रेडिट एंड रिस्क मैनेजमेंट फाइनेंस क्षेत्र में एक आवश्यक कार्य है। ये पेशेवर वित्तीय निवेश से जुड़े जोखिमों, जैसे बाज़ार जोखिम, क्रेडिट जोखिम और परिचालन जोखिम की पहचान और प्रबंधन करते हैं। वे जोखिम प्रबंधन रणनीतियाँ भी विकसित करते हैं जो कंपनियों को वित्तीय जोखिमों को कम करने में मदद करती हैं।

7. इक्विटी रिसर्च एंड एडवाइजरी

इक्विटी रिसर्च एनालिस्ट एंड एडवाइजरी विभिन्न कंपनियों की ताकत और कमजोरियों का विश्लेषण करने के लिए उन पर शोध करते हैं। उनका शोध उन्हें निवेशकों को कंपनियों के स्टॉक खरीदने, बेचने या रखने की सलाह देने के लिए आवश्यक वित्तीय जानकारी प्रदान करता है। दुनिया भर की शीर्ष ब्रोकरेज फर्मों में इक्विटी अनुसंधान विश्लेषकों और इक्विटी सलाहकारों की भारी मांग है।

8. वेल्थ मैनेजमेंट

वेल्थ मैनेजमेंट फाइनेंस में एक विशेष क्षेत्र है जो हाई नेट वर्थ वाले व्यक्तियों के वित्त के प्रबंधन से संबंधित है। उन्हें नकदी प्रबंधन, टैक्सेशन प्लानिंग, रिटायरमेंट प्लानिंग, एसेट मैनेजमेंट, रिस्क मैनेजमेंट और बहुत कुछ में विशेषज्ञता और डीप नॉलेज की आवश्यकता है। एक वेल्थ मैनेजमें पेशेवर अपने ग्राहकों को निवेश के अवसरों और धन संरक्षण रणनीतियों के बारे में वित्तीय सलाह प्रदान करता है।

9. फाइनेंस कंप्लायंस

पिछले कुछ वर्षों में फाइनेंस उद्योग में फाइनेंस कंप्लायंस एक महत्वपूर्ण भूमिका बन गया है। एक फाइनेंस कंप्लायंस अधिकारी यह सुनिश्चित करेता है कि संगठन प्रासंगिक वित्तीय कानूनों और विनियमों का अनुपालन करें। वे यह सुनिश्चित करने के लिए नीतियों और प्रक्रियाओं को विकसित और कार्यान्वित करते हैं कि संगठन नियामक आवश्यकताओं को पूरा करता है।

10. कमर्शियल बैंकिंग

कमर्शियल बैंकिंग बड़े आकार के बैंकों और अन्य फाइनेंशियल संस्थानों के लिए काम करती है और ग्राहकों को उनके फाइनेंस का मैनेजमेंट करने में मदद करती है। वे व्यवसायों और उच्च निवल मूल्य वाले व्यक्तियों को ऋण, ऋण और निवेश सलाह जैसी वित्तीय सेवाएँ प्रदान करते हैं।

हम आशा करते हैं कि आपको इस लेख में फाइनेंस में MBA और PGDM के बाद टॉप 10 करियर विकल्प और उससे संबंधित सारी जानकारी मिल गई होंगी। करियर से जुड़ी जानकारी के लिए हमारे YouTube Channel “Top Career Study” को अभी subscribe करें। B.Tech या MBA में एडमिशन के लिए आप हमारे टॉप कैरियर स्टडी की टीम से 8383895094 पर कॉन्टैक्ट कर फ्री काउन्सलिंग भी ले सकते हैं। वेबसाइट की सभी सूचनाओं से अप-टू-डेट रहने के लिए आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Facebook
Twitter
LinkedIn
Pinterest
WhatsApp

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *